21/12/2012

हो चाहे जितनी पुरानी दुश्मनी लेकिन...

कोई पुकारे तो रुकना ज़रूर पड़ता है


--MunawwarRana

No comments:

Post a Comment

रंग बातें करें और बातों से ख़ुश्बू आए दर्द फूलों की तरह महके अगर तू आए