29/06/2013

बदनाम हुए हम शहर में जिसकी वजह से

उस शक़्स को कभी हुए जी भर के देखा भी नही

No comments:

Post a Comment

रंग बातें करें और बातों से ख़ुश्बू आए दर्द फूलों की तरह महके अगर तू आए