29/06/2013

"फ़कीर, शाह, कलंदर, इमाम क्या क्या है..
तुझे पता नही तेरा ग़ुलाम क्या क्या है"....

No comments:

Post a Comment