16/08/2013

आज उसने तिरंगा फहराने की ठानी है..

भले ही रोज करता रहा वो बेईमानी है..

No comments:

Post a Comment

रंग बातें करें और बातों से ख़ुश्बू आए दर्द फूलों की तरह महके अगर तू आए