02/06/2014

हर रिश्ते मे मिलावट देखीं,कच्चे रँगों क़ी सजावट देखी।लेकिन सालों-साल देखा है माँ को,उसके चेहरे पर ना थकावट देखीं,ना ममता मे मिलावट देखी

No comments:

Post a Comment

रंग बातें करें और बातों से ख़ुश्बू आए दर्द फूलों की तरह महके अगर तू आए