21/10/2015

अब भी तू पास नहीं है लेकिन
इस क़दर दूर कहाँ था पहले.....

No comments:

Post a Comment