04/04/2013

जिसको दिल से निकाल फेका है ... 

उसने फिर मुझपे जाल फेका है ... 

- Sajlat Rahat

No comments:

Post a Comment